थायराइड में मोटापा और वजन कैसे कम करे 10 आसान उपाय

थायराइड में मोटापा और वजन कैसे कम करें उपाय इन हिंदी: थायराइड ग्रंथि शरीर में मेटाबॉलिज्म को कंट्रोल करती है और जब ये अपना काम सही तरीके से नहीं करती तब कई प्रकार की स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएं होने लगती है। थाइरोइड ग्रंथि जब नॉर्मल से कम मात्रा में हार्मोन्स बनाती है तब इसे हाइपोथायराइड कहते है जिसमें तेजी से वजन और मोटापा बढ़ने लगता है। पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में थायराइड के लक्षण अधिक देखे जाते है। कुछ लोग थाइरोइड में वेट लॉस करने के लिए टेबलेट कैप्सूल और अन्य दवा (मेडिसिन) का सहारा लेते है पर अपना डाइट चार्ट सही तरीके से प्लान कर के थाइरोइड में वजन कम किया जा सकता है। आज इस लेख में हम जानेंगे थायराइड में वजन और बढ़ा हुआ मोटापा कम करने के उपाय कैसे करे, hypo thyroid weight loss diet tips in hindi.

थायराइड में मोटापा कैसे कम करें, Thyroid weight loss tips in hindi

 

थाइरोइड वेट लॉस टिप्स इन हिंदी

  • आम लोगों के लिए भी वेट कम करना आसान नहीं होता और जिस पुरुष और महिला का वजन थायराइड के रोग से बढ़ा है उसके लिए तो ये और भी मुश्किल भरा हो जाता है।
  • वजन बढ़ने का कारण जरुरी नहीं है की थाइरोइड रोग ही हो, आपकी गलत दैनिक दिनचर्या और खाने पीने की बुरी आदतों की वजह से भी वजन बढ़ सकता है।
  • अगर आपको लग रहा है की hypothyroid के कारण आपका वेट बढ़ रहा है तो सबसे पहले इस बात की पुष्टि करने के लिए डॉक्टर से मिलकर जांच करवाए और टेस्ट होने के बाद ही इसके इलाज की प्रक्रिया शुरू करे।
  • हाइपोथायराइड में शरीर में नमक और पानी का अधिक मात्रा में होना मोटापा बढ़ने का कारण है। इसके इलावा खान पान का ध्यान ना रखना, योग, एक्सरसाइज और बिल्कुल भी शारीरिक श्रम ना करना भी वजन बढ़ने का एक कारण है।

 

थायराइड में मोटापा और वजन कैसे कम करें

Thyroid Me Motapa Kam Karne Ke Upay in Hindi

 

1. थायराइड की समस्या होने पर इलाज करने और वेट कंट्रोल में रखने के लिए मरीज को अपनी दैनिक दिनचर्या में कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरुरी होता है, जिसमें सबसे अहम है डाइट में ऐसे फूड खाना जो थायराइड कम करने में मदद करे और साथ ही शारीरिक श्रम करना।

2. हर रोज थायराइड की दवा एक निश्चित समय पर ले ताकि कभी आप गलती से दवा लेना ना भूल जाए और अगर आप थायराइड का इलाज की दवा लेने के इलावा भी कोई और मेडिसिन ले रहे है तो दोनों दवाओं का सेवन एक साथ ना करे।

3. डॉक्टर की सलाह के बिना ना ही कोई दवा शुरू करे और ना ही खुद से कोई दवा बंद करे।

4. थायराइड में योग, एक्सरसाइज, सुबह और शाम की सैर करने जैसी आदतें अपनी दिनचर्या में शामिल करे, इससे आप शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से स्वस्थ रहेंगे। थायराइड के लिये योग किसी योग गुरु की देख रेख में ही शुरू करे।

5. कुछ लोग एक दम से थाइरोइड में वजन कम करना चाहते है जिसके लिए वे डाइटिंग करते है और वेट लॉस करने वाले पाउडर टेबलेट और कैप्सूल का सेवन करते है। इस रोग में वेट कम करने का ये तरीका बिल्कुल गलत है। इससे फायदे की बजाय नुकसान भी हो सकता है।

6. ग्रीन कॉफी वेट कम करने के लिए अचूक मानी जाती है पर अगर आप थाइरोइड में ग्रीन कॉफी का सेवन कर रहे है तो एक बार अपने डॉक्टर से इस बारे में सलाह जरूर करे।

7. बहुत से ऐसे घरेलू नुस्खे और उपाय ऐसे है जो इस रोग में मोटापा कम करने में उपयोगी है पर इस रोग में अपने आहार को नियंत्रित करना सबसे अहम है क्यूंकि बहुत से ऐसे फूड है जिनके सेवन से थाइरोइड की समस्या बढ़ सकती है, इसलिए मरीज को इस बात की जानकारी होना बेहद जरुरी है की थायराइड में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाएं।

 

थायराइड में क्या खाना चाहिए – Thyroid Diet for Weight Loss in Hindi

1. अच्छे और जल्दी परिणाम पाने के लिए अपनी डाइट में 30% उबला हुआ खाना, 30% सलाद और 40% भोजन ले। खाना पकाने के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल करे।

2. उबले हुए भोजन में आलू खा सकते है। आलू के उबलने के बाद ये मोटापा नहीं बढ़ाता, इसके इलावा इसमें पोटाशियम ज्यादा होता है जो बॉडी का मेटाबोलिज्म अच्छा करता है। इसके साथ साथ शकरगंदी भी उबाल कर खा सकते है।

3. थायराइड में चावल खाने से मोटापा बढ़ सकता है। आप ब्राउन राइस और दालें भी खा सकते है, इससे प्रोटीन मिलता है और शरीर में चर्बी भी नहीं बढ़ती।

4. सलाद में खीरा, गाजर, प्याज, अंकुरित दालें और चने का सेवन करने से फायदा मिलता है।

5. अगर आप non veg कहते है तो मछली का सेवन फायदेमंद है। इसमें ओमेगा 3 फॅटी एसिड होता है जो थायराइड में सबसे जरुरी पोषक तत्व है।

6. फल में अनार, सेब, अनानास, खरबूजा का सेवन करना फायदेमंद है।

7. Hypothyroid weight loss के लिए विटामिन बी के सेवन से भी फायदा मिलता है, इसके लिए डाइट में दूध और दही शामिल करे।

8. थाइरोइड में कौन सा जूस पीना सही है, संतरे, अनानास और गाजर का जूस दिन में एक बार जरूर पीना चाहिए। इससे शरीर में ऊर्जा बानी रहती है और जरुरी पोषक तत्व भी मिलते है। इसके इलावा पानी भी अधिक मात्रा में पिए।

9. ड्राई फ्रूट खा सकते है, अखरोट दिमाग के लिए अच्छा होता है और थाइरोइड ग्रंथि भी सही तरीके से काम करती है।

10. हाइपोथायराइड में वेट कंट्रोल में रखने के लिए बॉडी डिटॉक्स करना भी जरुरी है। इसके लिए व्हीटग्रास जूस, ग्रीन टी और अदरक काफी उपयोगी है। अदरक उबाल कर इसका पानी पी सकते है इस उपाय से गले की सूजन में भी राहत मिलती है।

 

थाइरोइड के रोग में क्या नहीं खाएं

  • सोयाबीन थाइरोइड के हार्मोन्स के लिए ठीक नहीं है। अगर आप हाइपो थायराइड से पीड़ित है तो सोया और सोया से बनी चीजों का सेवन कम से कम करना चाहिए। जैसे की सोया मिल्क, सोयाबीन का तेल, सोया पनीर।
  • ग्लूटेन का सेवन कम करे। ग्लूटेन ज्यादातर डबल रोटी, ब्रेड और मैदे से बनी हुई चीज़ो में अधिक पाया जाता है। इस तरह के खाने को पचने में अधिक समय लगता है इसलिए इनका सेवन कम से कम करे।
  • आयोडीन की कमी के कारण जिन्हें थायराइड हुआ है वे फूलगोभी, बंदगोभी और ब्रॉकली जैसी सब्जियों का सेवन कम करे।
  • थायराइड में मोटापा कम करना है तो चीनी से बनी हुई मीठी चीजों का सेवन कम करे। मीठा खाने से वजन तेजी से बढ़ता है।
  • फ़ास्ट फूड़ नहीं खाना चाहिए ये शरीर में चर्बी और मोटापा बढ़ाते है।
  • थायराइड के दौरान कैफीन का सेवन करने से दवा का असर कम होता है। चाय और कॉफ़ी में कैफीन अधिक होता है और जब इसमें चीनी मिला देते है तब ये और जादा हानिकारक हो जाता है।

 

दोस्तों थायराइड में मोटापा और वजन कैसे कम करे, Thyroid weight loss diet in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें बताये और अगर आपके पास थाइरोइड में वेट कम करने के उपाय और घरेलू नुस्खे से जुड़े सुझाव है तो हमारे साथ साँझा करें।

You may also like...

1 Response

  1. Madhu says:

    Mera hypothyroidism hai mai 25mg ki medicine leti hu. Morning me ek baar chai pi rahi hu milk ki with sugar. Kya ek baar pi sakte hai tea ya bilkul bhi nahi pi sakte.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!