जल्दी प्रेग्नेंट होने के आसान उपाय सही समय और तरीका

प्रेग्नेंट होने के उपाय सही समय और तरीका इन हिंदी: शादी के बाद एक महिला के जीवन में गर्भधारण करने का टाइम और माँ बनने का पल सबसे खूबसूरत होता है पर कई बार कुछ कारणों से महिला को प्रेगनेंसी में देरी हो जाती है। ऐसे में उनके मन में कुछ सवाल होते है जैसे की बच्चा पैदा करने का सही समय क्या है, प्रेग्नेंट होने के लिए कब मेल करे, महिला पीरियड के कितने दिन बाद प्रेग्नेंट होती है, गर्भ ठहरने के लिए क्या करें और प्रेगनेंट कैसे करे। गर्भवती ना होने का कारण शारीरिक व मानसिक कोई भी हो सकता है। कुछ ही ऐसे लोग होते है जिन्हें ये जानकारी नहीं होती की प्रेग्नेंट होने के लिए क्या करना चाहिए। कुछ महिलायें जल्दी गर्भवती होने के लिए तरीके में दुआ, टोटके, टेबलेट और दवा का सहारा लेती है पर आप प्रेग्नेंट होने का सही तरीका, सही टाइम, दिन, शुरुआती लक्षण, सावधानी और कुछ उपाय से आसानी से जान सकते है की वीमेन प्रेगनेंट कैसे होती है। आइये जाने after periods what is best time and how to get pregnant, fast pregnancy tips in hindi.

अगर आप निकट भविष्य में गर्भवती होने की सोच रही है तो गर्भ गिराने व गर्भ ठहरने से रोकने वाली दवा के सेवन से दूर रहे। आजकल की जीवनशैली में पुरुष और महिला की प्रजनन शक्ति का स्तर काफी कम होता जा रहा है ऐसे में महिला हो या पुरुष किसी की भी बांझपन (infertility) की समस्या में डॉक्टर की सलाह से प्रेग्नेंट होने के अन्य तरीके अपनाने चाहिए।

प्रेग्नेंट होने के उपाय और तरीके, Pregnant hone ke upay in hindi

 

पीरियड कितने दिन बाद आते है

  • कुछ महिलाओं को मासिक धर्म समय पर होते है तो कुछ को अनियिमित होते है, मतलब समय से पहले आना या समय के बाद होते है।
  • जिन वीमेन को पीरियड सही टाइम पर आते है उन्हें गर्भ धारण करने में ज्यादा समस्या नहीं आती।
  • जिन्हें समय पर पीरियड्स नहीं आते और जिनके लिए ये पता लगाना मुश्किल होता है की period कब आएंगे उन्हें गर्भवती होने में थोड़ी मुश्किल आती है पर इसका ये मतलब नहीं की वे प्रेग्नेंट नहीं हो सकती।
  • बच्चा पैदा करने का तरीका और शारीरिक मेल के बारे में खुल कर बात ना करने की वजह से बहुत से लड़के और लड़कियों को सही समय पर जरुरी जानकारी नहीं मिल पाती जिस कारण शादी के बाद उन्हें प्रेगनेंसी में परेशानी होती है।

 

प्रेग्नेंट होने के उपाय सही समय और सही तरीका

Pregnant Hone Ke Upay Aur Tarika in Hindi

गर्भवती होने के लिए शारीरिक मेल करना जरुरी है पर सबसे जरुरी है ये मेल सही समय पर हो और सही टाइम की जानकारी ovulation time से पता चलती है, ये टाइम गर्भ धारण करने का उचित समय होता है। आइये जानते है गर्भधारण करने का सही तरीका क्या है और ओव्यूलेशन पीरियड क्या होता है।

 

ओव्युलेशन टाइम कैसे पता करे : Ovulation Period in Hindi

1. प्रेग्नेंट होने के लिए ओव्यूलेशन पीरियड सबसे अच्छा समय है। यह एक तरह से मासिक धर्म से जुड़ा हुआ समय ही है।

2. ओव्यूलेशन पीरियड कब शुरू होता है ये जानने से पहले ये समझ ले की हर महिला का ओव्युलेशन का समय अलग अलग होता है।

3. Ovulation का समय जानने के लिए महिला को पीरियड्स टाइम का पता होना चाहिए।

4. पीरियड शुरू होने के लगभग 12 से 14 दिन पहले का टाइम ही ओव्युलेशन होता है और ये पीरियड आने के 7 दिन पहले तक रह सकता है। ओव्यूलेशन ही वह टाइम है जिसमें अगर संबंध बनाये जाये तो गर्भ ठहरने की संभावना शत प्रतिशत होती है।

5. ओव्यूलेशन के समय (पीरियड्स के 12 – 14 दिन पहले) और उसके अगले 5 दिन महिला की प्रजनन क्षमता बहुत जादा होती है।

6. मान लीजिये किसी महिला के पीरियड्स 25 को आते है तो उसका ovulation समय 11 से 13 के बीच का हो सकता है।

7. जल्दी प्रेग्नेंट होना चाहते है तो ओव्युलेशन का ध्यान अवश्य रखे। महिला शुक्राणु और अंडे के मिलन से ही गर्भवती होती है। एक बार ओवरी से निकलने के बाद 24 से 36 घंटे तक अंडा जीवित रहता है। इसलिए इस टाइम में संबंध बनाने जरुरी है।

8. ओव्यूलेशन पीरियड के दौरान गर्भधारण करने के लिए हर रोज मेल करने का प्रयास करे और अगर रोज न हो पाए तो 1 दिन छोड़ कर करे। ऐसा करने से शुक्राणु और अंडे के मिलन के आसार बढ़ जाते है और women pregnant होने की संभवना बढ़ जाती है।

9. जिन महिलाओं को उनके पीरियड्स आने की सही तारीख मालूम होती है उनके लिए ओव्युलेशन टाइम पता करना और प्रेगनेंसी प्लान करना आसान होता है पर कुछ जिन महिलाओं के लिए अनियमित मासिक धर्म की समस्या गर्भवती ना होने का बड़ा कारण होता है।

10. जिन्हें पीरियड समय पर नहीं आते उन्हें प्रेग्नेंट होने के उपाय शुरू करने से पहले अपने irregular periods का इलाज करना चाहिए।

 

प्रेग्नेंट होने के टिप्स : Pregnant Hone Ke Tips in Hindi

  • प्रेगनेंसी के उपाय करने से पहले पुरुष और महिला का शारीरिक और मानसिक दोनों तरीके से त्यार होना जरुरी है। महिला के जादा तनाव लेने का बुरा असर ovulation पर पड़ता है जिससे गर्भ ठहरने में परेशानी आती है। घरेलू नुस्खे और उपाय भी स्वस्थ, सेहतमंद और तनाव मुक्त रहने के लिए काफ़ी असरदार है।
  • पीरियड के बाद प्रेग्नेंट होने के टिप्स करने के साथ साथ महिला को साफ़ सफाई का ध्यान भी रखना चाहिए क्योंकि इस दौरान संबंध बनाने पर इन्फेक्शन का ख़तरा अधिक होता है।
  • गर्भधारण करने की सही उम्र महिला के लिए 22 साल से 29 साल होती है और अगर 25 की उम्र में pregnancy plan करे तो ये सबसे अच्छा समय है क्योंकि 25 की उम्र में महिला शारीरिक और मानसिक रूप से बच्चा पैदा करने के लिए त्यार होती है।
  • गर्भवती होने की सोच है तो मासिक धर्म के पूरी तरह से बंद होने का इंतजार करे।
  • शारीरिक मेल होने के बाद महिला को 15 से 20 मिनट तक पीठ के बल ही लेटे रहना चाहिए।
  • बच्चे पैदा करने के लिए महिला का वजन संतुलित होना जरुरी है। वजन जादा होना और कम होना प्रेग्नेंट होने की संभावना को कम करता है। मोटापा अधिक हो तो बॉडी में एस्ट्रोजन अधिक बनता है जो ovulation में बाधा पैदा करता है और अगर लड़की का शरीर ज्यादा पतला है तो उसे अनियिमित मासिक धर्म की समस्या आती है।
  • अगर पीरियड्स की सही तारीख ना पता हो तो ओव्यूलेशन का समय मालूम करना मुश्किल हो जाता है, ऐसी स्थिति में या तो अनियमित माहवारी का उपचार करे या फिर कुछ महीने इंतजार करे और पीरियड्स की तारीख नोट करे।
  • प्रेग्नेंट होने के लिए क्या खाये, में पुरुषों को अपनी डाइट में ऐसे फूड्स खाना चाहिए जो शुक्राणु बढ़ाने में मदद करे जैसे की फोलिक एसिड, जिंक और विटामिन सी। महिला को भी अपने आहार में पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
  • किसी भी तरह के नशे से बचे इससे प्रजनन क्षमता कमजोर होती है जिससे प्रेगनेंसी में मुश्किलें आती है।
  • पुरुषों को अपने गुप्तांग को गर्मी से दूर रखना चाहिए जैसे की पैरों पर लैपटॉप ना रखना, गर्म पानी से ना धोना। इसका बुरा असर शुक्राणुओं पर पड़ता है।
  • प्रेग्नेंट होने के तरीके जो इस लेख में बताये गए है वो सिर्फ़ जानकारी मात्र है। कोई भी उपाय करने से पले अपने बड़े बुजुर्गों से या किसी डॉक्टर से मिले और पूरी जानकारी व सावधानी के बारे में विस्तार से चर्चा करे।

 

पीरियड्स के बाद प्रेग्नेंट होने का सही समय कब होता है

  1. पीरियड ख़तम होने के बाद मिलाप करना प्रेगनेंसी के लिए अच्छा है। अगर पीरियड 5 से 7 दिन तक चलते है और उसके तुरंत बाद संबंध बनाते हो तो प्रेग्नेंट होने की संभावना ज्यादा होती है। अगर रक्त का स्त्राव पीरियड्स के 6 दिन बाद बंद हो जाता है तो 7 वें दिन शारीरिक मेल जरूर करना चाहिए।
  2. इसके 11 दिन बाद आप फिर से प्रयास कर सकते है क्योंकि तब तक ओव्युलेशन टाइम शुरू हो जाता है।
  3. पीरियड्स के बाद प्रेग्नेंट होने के लिए कब मेल करे, इस बारे में कुछ लोगों की राय अलग हो सकती है इसलिए प्रेगनेंसी के उपाय शुरू करने से पहले डॉक्टर से मिल कर इस बारे में पूरी जानकारी अवश्य ले।

 

डॉक्टर से कब मिलना चाहिए

  • प्रेग्नेंट होने का तरीका अपनाने से पहले पुरुष और महिला दोनों को एक बार हेल्थ चेकउप करवाना चाहिए ताकि किसी भी प्रकार की समस्या से बच सके।
  • आप अगर एक साल से प्रयास कर रहे है और गर्भधारण नहीं कर पा रहे।
  • अगर संबंध करने के बाद ब्लीडिंग की प्राब्लम हो रही है।
  • पहले periods के ख़तम होने के बाद व दूसरे पीरियड के शुरू होने के बीच ब्लीडिंग हो रही है।
  • ज्यादा उम्र में गर्भवती होने में मुश्किल आती है ऐसे में डॉक्टर की सलाह से जाने की गर्भधारण कैसे करे।

 

दोस्तों प्रेग्नेंट होने के उपाय तरीके सही समय और टिप्स, Pregnant Hone Ke Upay Tarika Aur Tips in Hindi का ये लेख कैसा लगा हमें बताये और अगर आपके पास पीरियड के बाद जल्दी प्रेग्नेंट (गर्भवती) होने के लिए कब क्या करे, गर्भधारण करने का उपाय सही तरीका टाइम दिन से जुड़े सुझाव है तो हमारे साथ साँझा करे।

You may also like...

2 Responses

  1. mahi says:

    6 mahine se kosish kar rahe hai lekin garbh nahi their raha hai

    • Admin says:

      गर्भ ठहरने के लिए आप ऊपर बताये हुए तरीके और उपाय पढ़े और प्रयास करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!