पथरी का इलाज लक्षण 10 आसान घरेलू उपाय और नुस्खे

पथरी का इलाज घरेलू उपाय नुस्खे  और आयुर्वेदिक दवा इन हिंदी: अनियमित जीवनशैली और गलत खान पान की वजह से गुर्दे और पित्ते की पथरी की समस्या आजकल बढ़ती जा रही है। कई बार पथरी का दर्द काफी अधिक होता है जो सहन करना मुश्किल हो जाता है। पथरी निकालने के लिए कुछ लोग दवा का सहारा लेते है तो कुछ ऑपरेशन भी करवाते है। वैसे तो पथरी शरीर में किसी भी जगह हो सकती है पर पित्ते, गुर्दे, यूरिनरी और गॉलब्लैडर स्टोन की शिकायत ज्यादा होती है।

कुछ लोगों को 1 से 3 mm के आकार की पथरी होती है तो कुछ को 8 mm से भी बड़ी पथरी हो जाती है। आज इस लेख में हम जानेंगे पथरी के लक्षण क्या है और home remedies (gharelu nuskhe) and ayurvedic treatment for kidney and gallbladder stone in hindi.

पथरी का इलाज और उपाय, pathri ka ilaj in hindi

 

पथरी होने के कारण

  • पथरी होने का एक बड़ा कारण है शरीर में कैल्शियम ज्यादा मात्रा में होना।
  • इसका मतलब ये है की जिन्हें पथरी हुई हो उनकी बॉडी में कैल्शियम ज्यादा होता है जी शरीर में पच नहीं रहा।

 

पथरी के लक्षण

  1. पथरी का सबसे पहला सिम्पटम्स है तेज दर्द होना।
  2. कुछ लोगों में पथरी की शिकायत होने पर पेशाब रुक रुक कर आने लगता है तो कुछ को पेशाब बार बार आता है।
  3. उल्टी, दस्त ज्यादा होना और साथ ही बैचेनी व थकान महसूस करना।
  4. बार बार बुखार आना, शरीर में कपकपी होना और यूरिन इन्फेक्शन भी पथरी के लक्षण में एक है।
  5. तेज दर्द होने के इलावा पेशाब में जलन हो तो ये kidney stone symptoms में से एक है।

 

पथरी का इलाज घरेलू नुस्खे और उपाय

Pathri Ka ilaj Gharelu Nuskhe Upay in Hindi

  1. पानी में अजवाइन उबाल कर इसे छान कर पीने से पथरी के कारण होने वाला दर्द कम होने लगता है।
  2. पथरी के दर्द का उपचार में नींबू पानी भी उपयोगी है। नींबू में सिट्रिक एसिड होता है जो कैल्शियम बढ़ने से रोकता है। ऐसे में नींबू पानी से जल्दी आराम मिलता है।
  3. रात को 2 गिलास पानी में 2 चम्मच सौंफ, सूखा धनिया और मिश्री भिगो कर रखे और अगली सुबह पानी छान कर खाली पेट पिए।
  4. दर्द से छुटकारा पाने में एलोवेरा जूस भी असरदार है। नियमित रूप से एलोवेरा जूस पीने से पथरी का दर्द कम होने लगता है।
  5. केले में कई ऐसे पोषक तत्व होते है जो पथरी बढ़ने से रोकते है। इसके दर्द से बचने के लिए केला खाएं।
  6. जाने पथरी की दवा का नाम

 

किड़नी की पथरी का आयुर्वेदिक उपचार

  • पथरी चाहे पित्ते में हो या गुर्दे में या शरीर के किसी अन्य हिस्से में हो इसके उपचार में सबसे बेहतर है पानी पीना। दिन भर में 5 से 6 लीटर पानी पिए।
  • मूली के साथ आंवला चूर्ण खाने से किड़नी की पथरी धीरे धीरे कम होने लगती है।
  • पथरी की आयुर्वेदिक दवा लेना चाहते है तो बाबा रामदेव पतंजलि से दिव्य अश्मरीहर रस ले सकते है। इस दवा को लेने से पहले इसे लेने का सही तरीका जान ले।
  • गुर्दे की पथरी का इलाज करने में अंगूर भी फायदेमंद होते है। अंगूर में पानी, नमक और पोटासियम की मात्रा ज्यादा होती है जो पथरी के उपचार में अच्छा मन जाता है।
  • पक्के हुए प्याज का रस गुर्दे की पथरी में रामबाण काम करता है। एक बर्तन में 1 गिलास पानी में 1 से 2 प्याज छील कर डाल ले और धीमी आंच पर पकने दे। प्याज जब अच्छे से पक जाए तब गैस  से इसे उतार ले और ठंडा होने पर मिक्सी में डाल कर पीस ले।
  • पित्ते की पथरी बॉडी कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की वजह से होती है। रोजाना कपालभाति प्राणायाम से कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहता है।
  • पथरी में मुल्ली के पत्तों का रस भी अच्छा होता है। दिन में 2 से 3 बार मुल्ली के पत्तों का 100 ग्राम रस लेने से पथरी में राहत मिलती है।
  • पथरी का इलाज राजीव दीक्षित, पाखनबेद का पौधा जिसे पत्थरचटा के नाम से भी जाना जाता है। एक से डेढ़ गिलास पानी में इसके 10 पत्ते उबाल कर इसका काढ़ा बना ले।

 

पथरी में क्या खाना चाहिए क्या परहेज करे

  • पथरी की समस्या हो तो चुना ना खाएं। कुछ लोग पान में चुना डाल कर खाते है।
  • बीज वाले फल और सब्जी ज्यादा नहीं खाना चाहिए।
  • गाजर, नारियल पानी, चना, करेला और केला खाये ये शरीर में पथरी बनने से रोकते है।
  • नॉन वेज कम खाना चाहिए। मांस मछली में कैल्शियम ज्यादा होता है जो पथरी होने पर नहीं खाना चाहिए।

 

दोस्तों पथरी का इलाज घरेलू नुस्खे उपाय और लक्षण, Pathri ka ilaj gharelu nuskhe upay in hindi का ये लेख कैसा लगा बताये और अगर आपके पास पथरी के लक्षण दवा और आयुर्वेदिक उपचार से जुड़े सुझाव है तो हमारे साथ साँझा करे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!