किडनी रोग का इलाज 5 आसान उपाय और आयुर्वेदिक उपचार

किडनी रोग के लक्षण और रामबाण इलाज इन हिंदी: खाने पिने की गलत आदतें, व्यस्त जीवनशेली, संक्रमित पानी और प्रदूषण के कारण आजकल किडनी (गुर्दे) में दर्द, सूजन, स्टोन, इन्फेक्शन से बहुत से लोग परभावित है। समस्या बढ़ने पर डॉक्टर डायलिसिस ट्रीटमेंट की सलाह देते है और किडनी खराब होने पर प्रत्यारोपण तक की नोबत आ सकती है। कुछ लोग किडनी ठीक करने के लिए मेडिसिन का सहारा लेते है पर अगर किडनी की बीमारी के शुरुआती लक्षण पहचान लिए जाये तो समय रहते बिना दवा के देसी घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक उपचार से किडनी को स्वस्थ करने के उपाय किये जा सकते है। किडनी का इलाज के लिए रोगी का आहार और उसकी दिनचर्या का सही होना भी बहुत जरुरी है। आज इस लेख में हम गुर्दे को स्वस्थ रखने का तरीका और उपाय जानेंगे, natural ayurvedic home remedies (gharelu nuskhe) for kidney treatment, tips in hindi.

गुर्दे हमारे शरीर में खून साफ़ करने और शरीर से विषेले पदार्थ पेशाब के रास्ते बाहर निकालने का काम करते है, इससे शरीर के सभी अंग सही तरीके से काम करने में मदद मिलती है। इसके इलावा ब्लड प्रेशर, नया खून बनाना, पानी और कैल्शियम का नियंत्रण बनाए रखना भी किडनी के कुछ अन्य काम है। अगर किडनी में कोई इन्फेक्शन या फिर कोई बीमारी हो जाती है तो ये सही से काम नहीं कर पाती जिस कारण शरीर को कई दूसरे रोग होने की संभावना बढ़ जाती है।

किडनी का इलाज और घरेलू उपचार, Kidney ka ilaj in hindi

 

किडनी रोग होने का कारण : Causes

  • पानी कम पीना
  • नींद पूरी ना लेना
  • नमक जादा खाना
  • कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन करना
  • काफी देर तक पेशाब रोकना
  • धूम्रपान करना और अधिक शराब पीना।
  • दर्द निवारक दवाओं का अधिक सेवन करना।
  • आहार में मिनरल्स और विटामिन की कमी होना।
  • जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर और शुगर जेसे रोग होते है और जिनके परिवार में कभी किसी को किडनी की कोई बीमारी हुई हो उनमें किडनी रोग होने की संभावना अन्य लोगों से अधिक होती है।

 

किडनी खराब होने के क्या लक्षण है : Symptoms of Kidney Problem

किडनी रोग की पहचान का प्रमुख लक्षण है पेशाब (urine) करते समय दर्द होना या फिर पेशाब में खून आना। इसके इलावा किडनी की बीमारी में कुछ अन्य सिंप्टम्स भी दिखते है।

  1. ठंड लगना
  2. ब्लड प्रेशर ज्यादा रहना
  3. त्वचा पर खुजली होना
  4. भूख ना लगना या कम लगना
  5. शरीर पर सूजन आना
  6. कमज़ोरी और थकान महसूस होना
  7. पेशाब में अधिक मात्रा में प्रोटीन होना
  8. पेशाब बार बार आना और जलन होना
  9. मुंह से बदबू आना और मुँह का स्वाद खराब होना

 

किडनी का इलाज घरेलू उपाय और नुस्खे

Kidney Ka ilaj Gharelu Upay Aur Nuskhe in Hindi

1. किडनी इन्फेक्शन से बचने में आपल साइडर विनेगर के सेवन से फायदा मिलता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल तत्व मौजूद होते है जो किडनी को बैक्टीरिया के इन्फेक्शन से बचाता है। किडनी में स्टोन (पथरी) हो तो आपल साइडर विनेगर के प्रयोग से धीरे धीरे पथरी अपने आप ख़तम हो जाती है। किडनी स्वस्थ रखने और विषैले पदार्थ बाहर निकालने में भी ये उपाय काफी फायदेमंद है।

2. रात को सोने से पहले मुनक्का के कुछ दाने पानी में भिगो कर रखे और अगली सुबह इस पानी से मुनक्का निकाल कर पानी पिए। लगातार कुछ दिन इस घरेलू नुस्खे को करने से किडनी की बीमारी का इलाज होता है।

3. विटामिन वैसे तो विटामिन पूरे शरीर के लिए जरुरी होते है पर कुछ विटामिन किडनी को स्वस्थ रखने में काफी उपयोगी होते है, जैसे की विटामिन डी। इससे किडनी रोग के लक्षण कम करने में मदद मिलती है। विटामिन सी गुर्दे को किसी भी तरह के नुकसान से बचाने में उपयोगी है और विटामिन बी6 kidney stone की संभावना को कम करता है।

4. फलों और सब्जियों का जूस पिने से किडनी रोग का उपचार में उपयोगी है। गुर्दे से जुड़े रोग ठीक करने के लिए खीरा, लौकी, पत्ता गोभी और गाजर का जूस पिए। इसके इलावा तरबूज का रस भी किडनी की बीमारी दूर करने के लिए उपयोगी है।

5. किडनी को स्वस्थ कैसे रखें इसका एक जवाब है पानी अधिक पिए। इससे शरीर में मौजूद हानिकारक पदार्थ पेशाब के रास्ते बाहर निकल जाते है। पानी में नींबू को निचोड़ कर पिने से विटामिन सी की भी पूर्ति हो जाती है।

 

गुर्दे के रोग का आयुर्वेदिक उपचार : Kidney Ka Ayurvedic Upchar in Hindi

  • पीपल की छाल 10 ग्राम और नीम की छाल 10 ग्राम ले कर 3 गिलास पानी में उबाल ले और जब ये पानी आधा ही रह जाए तब इसे ठंडा होने के बाद छान ले। अब इस पानी का 1/4 हिस्सा दिन में तीन से चार बार पिए। इस आयुर्वेदिक दवा को लगातार एक हफ़्ता करने से क्रेटनीन कंट्रोल में आने लगती है।
  • किडनी का आयुर्वेदिक इलाज में कासनी नाम का एक पौधा है जो आयुर्वेद गुणों से भरपूर है। इस पौधे की पत्तियों के सेवन से शुगर, किडनी, बवासीर और लिवर के रोग को ठीक करने में मदद मिलती है। ये पौधा आपको किसी नर्सरी में मिल जाएगा। गुर्दा रोग उपचार देसी तरीके से करने के लिए हर रोज इस पौधे पत्ते चबाने चाहिए।
  • चार लीटर पानी में 250 ग्राम गोखारू काँटा उबाल ले और जब ये पानी 1 लीटर बच जाए तब इसे छान ले और किसी साफ़ बोतल या जग में भर ले। अब सुबह शाम ये काढ़ा 100 ग्राम की मात्रा में खाली पेट पिए और काढ़ा पीने के 1 घंटे बाद तक कुछ ना खाए पिए। अगर आप की किसी तरह की कोई medicine चल रही है तो आप उसे भी चलने दे। जिन लोगों की किडनी का डायलिसिस चल रहा है और जिन्हें डॉक्टर ने किडनी ट्रांसप्लांट की सलाह दी है वे एक बार ये उपाय ज़रूर करे। ये किडनी के लिए रामबाण इलाज है। गोखारू काँटा आप पंसारी की दुकान से ले सकते है। लगातार 2 हफ्ते इस उपाय को करने से आप चमत्कारी बदलाव महसूस करेंगे।

 

किडनी ठीक करने के उपाय राजीव दीक्षित

  • खाना खाने के बाद पेशाब करने को जाये। नियमित रूप से इस नियम का पालन करने पर गुर्दे के बहुत से रोग दूर हो सकते है। जो लोग किडनी इन्फेक्शन या फिर किडनी की किसी भी बीमारी से ग्रस्त है उनके लिए ये gharelu upay बहुत फायदेमंद हो सकता है।
  • किडनी को ठीक करने के उपाय के साथ साथ इस नियम से गठिया, लिवर, कमर और प्रॉस्टेट के बढ़ने जैसे रोग दूर रहते है।

 

किडनी के लिए योग बाबा रामदेव

  1. आप अगर गुर्दे के रोग से परेशान है तो योगा शुरू करे। किडनी को स्वस्थ रखने और उपचार में योग और प्राणायाम काफी असरदार है।
  2. हफ्ते में तीन से चार दिन भी योगा किय जाये तो फायदा मिल सकता है। किडनी का इलाज के लिए baba ramdev के बताए योग आसान और प्राणायाम कर सकते है।

 

किडनी को स्वस्थ रखने के लिए आहार और परहेज

  • नमक का सेवन जादा ना करे।
  • बाजार में मिलने वाला डब्बा बंद खाने से दूर रहे।
  • साफ पानी पिए और अगर पानी साफ ना मिले तो उबाल कर पिए।
  • किडनी के लिए डाइट हेल्थी होनी चाहिए और फास्ट फुड खाने से परहेज करे। अपने आहार में फलों और सब्जियों का सेवन अधिक करे।
  • अगर दस्त, उल्टी या बुखार हुआ हो तो शरीर में पानी की कमी ना हो, इसलिए प्रयाप्त मात्रा में पानी पिए।
  • धूम्रपान शराब और किसी भी प्रकार के नशे से दूर रहे।
  • गुर्दे के रोग से बचने के लिए ज़रूरी है की आप किसी भी तरह के इन्फेक्शन से बचे रहे।
  • ज्यादा तनाव लेने से बचे और स्वस्थ जीवनशैली अपनाये।
  • शरीर का वजन जादा ना बढ़ने दे।
  • दर्द निवारक दवा का सेवन कम से कम करे, क्योंकि ये मेडिसिन किडनी को नुकसान करती है।

 

दोस्तों किडनी का इलाज के रामबाण आयुर्वेदिक उपचार, Kidney Ka ilaj Gharelu Upay Aur Nuskhe in Hindi का ये लेख आप को कैसा लगा हमें बताये और अगर आपके पास किडनी रोग को ठीक करने के लिए उपाय घरेलू नुस्खे और इस बीमारी के लक्षण से जुड़े अनुभव है तो हमारे साथ साँझा करे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!