हकलाने और तुतलाने का इलाज 5 आसान उपाय और घरेलू नुस्खे

हकलाने का इलाज इन हिंदी: हकलाना मतलब अटक – अटक कर बोलना और तुतलाने का मतलब है आवाज़ साफ़ ना आना, जिस कारण बोले हुए शब्द साफ़ समझ नहीं आते। तोतले पन और हकलाहट की समस्या छोटे बच्चों में अधिक होती है और अगर छोटी उम्र में ही इसका उपचार ना हो तो उम्र बढ़ने के साथ हकलाना तुतलाना भी बढ़ने लगता है। इसके ट्रीटमेंट के लिए डॉक्टरों के पास भी अभी तक कोई कारगर दवा नहीं है पर आप घरेलू उपाय, आयुर्वेदिक मेडिसिन और और देसी नुस्खे से हकलाने और तुतलाने का इलाज कर सकते है। आइए जाने तुतलाना और हकलाना कैसे दूर करे, natural remedies and ayurvedic treatment for stammering (haklana tutlana) problem solution at home in hindi.

तोतलापन और हकलाहट होने पर बच्चों का आत्मविश्वास कम होने लगता है जिससे उनमें निराशा आने लगती है और वे अपनी भावनाओं को बोल कर बताने में भी घबराने लगते है।

हकलाने का इलाज, Stammering treatment in hindi

 

हकलाने का कारण : Causes of Stammering

  • बोलते समय काम आनी वाली मांसपेशियां और जीभ पर नियंत्रण न होना तुतलाने और हकलाहट का एक कारण है।
  • कुछ लोग नर्वस होने पर तो कुछ लोग जादा उत्साहित होने पर हकलाने लगते है। इसके इलावा कुछ लोग टेंशन की वजह से भी हकलाते है।

 

तुतलने हकलाने के लक्षण : Symptoms

  • कुछ बोलते समय एक ही शब्द को बार बार बोलना या अटक-अटक कर बोलना हकलाने का सामान्य लक्षण है।
  • तेज बोलना या फिर बोलते वक़्त आँखे झपकना।
  • बोलते वक़्त जबड़े का हिलना, होंठों में कंपन होना।

 

हकलाने का इलाज के उपाय और घरेलू नुस्खे

Stammering Treatment at Home in Hindi

 

1. आंवला

आंवले को आयुर्वेद में एक उत्तम मेडिसिन माना गया है। हर रोज 1 आंवला खाने से कई प्रकार के रोगों से बचे रहते है। तुतलाने और हकलाने का उपाय करने में भी आंवला काफी उपयोगी है। इसके लिए 2 महीने लगातार प्रतिदिन 1 आंवला खाए।

एक चम्मच आंवला पाउडर एक चम्मच गाय के घी के साथ ले, इस घरेलू नुस्खे से भी हकलाना ठीक होता है।

 

2. छुहारे से तोतलापन का इलाज

आवाज़ में तोतले पन की समस्या हो या फिर हकलाहट हो तो इसके घरेलू इलाज में छुहारा खाने से भी फायदा मिलता है। छुहारे के सेवन से आवाज़ साफ़ होती है। रात को सोने से पूर्व 2 छुहारे खाए और 2 घंटे पानी ना पिए।

 

3. मक्खन और बादाम

हकलाहट का इलाज करने के लिए रात को सोने से पूर्व पांच से छह बादाम पानी में भिगो कर रख दे और सुबह इन बादामों को छील कर पीस ले। अब तीस ग्राम मक्खन के साथ इसका सेवन करे। इस उपाय को हर रोज निरंतर करने पर हकलाना ठीक होने लगेगा।

हकलाना बंद करने के लिए बादाम के इलावा मक्खन के साथ काली मिर्च का सेवन करने से भी फायदा मिलता है। इसके लिए एक चम्मच मक्खन के साथ एक चुटकी काली मिर्च सुबह सुबह खाए।

 

4. मिश्री

हकलाना दूर करने के उपाय के लिए थोड़ी सी मिश्री, 8 से 10 बादाम और इतनी ही मात्रा में काली मिर्च ले और सबको मिलाकर पीस ले और हर रोज इसका सेवन करे। दो हफ्ते लगातार इस उपाय को करने से अटक-अटक कर बोलने की समस्या दूर होने लगती है और आवाज साफ होने लगती है।

 

5. ब्राह्मी तेल से हकलाना दूर करे

हफ्ते में दो बार ब्राह्मी तेल से सिर की मालिश करने पर हकलाहट धीरे धीरे कम होने लगती है। ब्राह्मी का तेल इस्तेमाल करने से पहले गुनगुना कर ले फिर आधे घंटे तक इससे सिर की मसाज करे। इस उपाय से दिमाग तेज करने और याददाश्त बढ़ाने में भी मदद मिलती है।

 

स्पीच थेरपी से हकलाना कैसे ठीक होगा

1. स्पीच थेरपी के द्वारा हकलाने और तुतलाने की समस्या को काफ़ी हद तक दूर कर सकते है। इसे आप एक तरह से घर पर किया जाने वाला हकलाने का योग भी कह सकते है। स्पीच थेरपी से ट्रीटमेंट के लिए आप एक्सपर्ट की राय भी ले सकते है।

2. हकलाना और तुतलाना का ट्रीटमेंट के लिए उपचार के साथ साथ अपने बोलने की गति को भी कंट्रोल करने पर ध्यान दे। कुछ लोग बहुत तेज बोलते है जिस वजह से उनकी आवाज समझ नहीं आती, अगर आप भी ऐसा करते है तो धीरे धीरे बोलने का प्रयास करे।

3. किसी किताब या अख़बार को बोल बोल कर पढ़े और इस दौरान आप जो बोल रहे है उन शब्दों पर ध्यान दे।

4. शीशे के सामने खड़े हो कर आप बोलने का अभ्यास करे।

5. बच्चा हकलाता है तो पहले आप उसे एक शब्द बोलने को कहे और जब वो एक शब्द को ठीक से बोलने लग जाये तब दो शब्द बुलवाए और इसी तरह धीरे धीरे शब्द बढ़ाते जाए।

 

हकलाना और तुतलाना ट्रीटमेंट टिप्स इन हिंदी

  • इस समस्या के इलाज के लिए सबसे पहले खुद को ये समझाए की ये कोई बड़ी प्राब्लम नहीं है और सही तरीके से उपचार कर के इससे छुटकारा भी पाया जा सकता है।
  • बोलते समय हकलाहट ना हो इसके लिए आप बोलने से पहले अपनी बॉडी और दिमाग़ को रिलॅक्स करे और अपनी हकलाहट के बारे में बिल्कुल ना सोचे। मन शांत करने और तनाव दूर के लिए योग और मेडिटेशन करे। इसके इलावा गहरी और लंबी सांस लेने से भी शरीर और मन को आराम मिलता है।
  • कुछ लोग ऐसे भी है जिन्हें सिर्फ कोई कोई शब्द बोलने अटकते है, इस समस्या के समाधान के लिए आप उन सभी शब्दों की एक सूची बनाए फिर उनके सामने आप वो शब्द लिखे जिनका मतलब वही हो और आप उन्हें आसानी से बोल भी सके।
  • बोलने के मुक़ाबले में गाते वक़्त कम हकलाहट होती है इसलिए हकलाना रोकने के लिए आप स्पीच थेरपी के इलावा म्यूज़िक थेरपी का भी सहारा ले सकते है।

 

अगर 5 साल से अधिक उम्र में भी बच्चा हकलाता है या आवाज में तोतलापन है तो किसी एक्सपर्ट से मिले और स्टॅमरिंग दूर करने के उपाय जाने।

 

इस लेख में आपने जाना हकलाना और तुतलाना कैसे दूर करे। दोस्तों हकलाने का इलाज के उपाय, stammering treatment at home in hindi का ये लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट कर के बताये और अगर आपके पास घरेलू नुस्खे से हकलाना कैसे ठीक होगा और आवाज साफ करने के उपाय से जुड़े अनुभव है तो हमारे साथ साँझा करे।

You may also like...

6 Responses

  1. araj sharma says:

    Hii…mera naam araj h.m 18 saal ka hu aur m tutlata hu.
    Kya meri tutlapan thik ho jayegi.
    M bahut paresan rahta hu apne tutlapn se.log mazak urate h jo mujhe achhe nhi lagte h.
    Plzz…reply me

    • Admin says:

      दोस्त हकलाने और तुतलाने का इलाज के घरेलु उपाय और नुस्खे ऊपर लेख में बताये गए है आप इन्हें सही तरीके से और नियमित रूप से करे, धीरे धीरे तुतलाना कम होने लगेगा।

  2. ayush says:

    mirchi khane se totlana thik hota hai ya nahi …meri age 15 hain

  3. deepak agnihotry says:

    Gsir mere naam deepak hai meri aawaj atakti h me kuch v bolun aawaj atak hi jati h thik karne ke upay batiye jo jaldi se meri aawaj thik kt de me 12 me padta hun aur class monitor v hun. kese v me aawaj saaf rakhna chahta hun

    • Admin says:

      आवाज साफ़ करने के उपाय और नुस्खे ऊपर लेख में बताये गए है आप इन्हें पढ़े और निरंतर अभ्यास करे.

  4. laxmikant vaishnav says:

    abhi-abhi jyada haklahat ho raha hai…
    pahle vaisha nahi tha…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!