ध्यान कैसे लगायें: घर पर मेडिटेशन करने का आसान तरीका

Meditation in hindi: ध्यान कैसे लगायें, मेडिटेशन करने को हिंदी में हम ध्यान लगाना कहते है। मन की एकाग्रता बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा उपाय है रोजाना कुछ देर मेडिटेशन करे। अलग अलग लोगों का मेडिटेशन करने का तरीका भी अलग है और वो सब तरीके सही है जिससे मन शांत हो जाये। ध्यान लगाने का मंत्र का उच्चारण करके भी कुछ लोग अपना ध्यान केंद्रित करते है और कुछ लोग म्यूजिक, योग के जरिये मेडिटेशन करते है। आज इस लेख में हम जानेंगे घर पर मेडिटेशन कैसे करें, how to do meditation at home in hindi.

कभी कभी हमारा मन किसी भी जगह पर नहीं लगता और कुछ समझ में नहीं आता की अब हम क्या करे जिस वजह से हम परेशान होने लगते है। ऐसे में अगर हमें ध्यान लगाने की विधि पता हो तो ऐसी परेशानियों से कुछ पल में ही बाहर निकल सकते है। ध्यान लगाने से मन तो शांत होता है साथ ही मन की एकाग्रता बढ़ती है और इसके इलावा आप तन और मन से भी स्वस्थ रहते है।

ध्यान कैसे लगायें, मेडिटेशन कैसे करें, Meditation in hindi

 

मेडिटेशन क्या है

दिमाग़ और मन को यहां वहां भटकने से रोकने के लिए जब किसी एक चीज़ पर ध्यान केंद्रित करते है तो उसे मेडिटेशन करना कहते है। मेडिटेशन करते समय हम अपने चारों और शोर से हट कर अंतर्मन की आवाज़ को सुनते है।

 

ध्यान कैसे लगायें : मेडिटेशन कैसे करें

How to Do Meditation at Home in Hindi

 

बाहर के शोर को रोकने के लिए हम अपने कान तो बंद कर लेते है पर कुछ ऐसी आवाजें भी है जो हमारे दिमाग़ से आती है जैसे – मुझे कोई काम करना है, मुझे कही जाना है और ये आवाजें हमें ध्यान नहीं लगाने देती। इसका उपाय ये है की जब आप अपने कान और आँखे बंद कर लेते है तब दो और आवाजें हमें सुनाई देती है, धड़कन और साँस की। इन दो आवाजों के इलावा एक और आवाज़ भी है जो झींगुर के जैसी होती है और हमें इसी आवाज़ पर ध्यान केंद्रित करना है।

शुरू शुरू में ये आवाज़ आपको बहुत धीमी सी सुनाई देगी पर एक बार जब ध्यान लगने लगेगा तब ये आवाज़ भी तेज होने लगेगी। इस आवाज़ पर ध्यान लगने के बाद आपको कुछ और आवाजें भी सुनाई देंगी जिससे आपको आनंद मिलेगा जैसे की नदी के पानी की आवाज़, बारिश की आवाज़। ध्यान की इस अवस्था में जब आप आ जाएँगे तब आनंद की अनुभूति होने लगेगी जिससे आपका मन और दिमाग शांत हो जाएगा।

 

ध्यान लगाने की विधि: मेडिटेशन कैसे करते है

1. मेडिटेशन करने के लिए सबसे पहले एक ऐसी जगह पर बैठे जो आरामदायक हो और शोर से दूर हो। आपको जिस तरीके से बैठना अच्छा लगे वैसे बैठ जाए। आप कुर्सी पर बैठ सकते है और जमीन पर दोनों पैरों की प्लाथी मार कर भी बैठ सकते है और अगर किसी वजह से आप बैठ नहीं सकते तो खड़े हो कर ध्यान लगा सकते है। अब अपने दोनों कान और दोनों आँखे बंद कर ले। कान बंद करने के लिए आप कानों में रूई डाल सकते है।

2. ध्यान करने की प्रक्रिया शुरू करने से पहले अपनी आँखे बंद करके आठ से दस बार लंबी और गहरी साँस ले फिर धीरे धीरे सांस छोड़े।

3. अब आप अंतर्मन की आवाज़ पर ध्यान लगायें। शुरु में अगर आवाज़ सुनाई ना दे तो कोई बात नहीं आप प्रयास करते रहे। निरंतर और सही तरीके से प्रयास करने पर कुछ समय में आपको झिंगुर जैसी आवाज सुनाई देने लगेगी।

4. ध्यान कैसे करें, ध्यान लगाते समय आपकी सोच कई बार भटकेगी पर इससे आप परेशान ना हो। अगर दिमाग़ में चल रही बातें आपका ध्यान भटका रही है तो फिर से अपना ध्यान अंतर्मन की आवाज़ पर केंद्रित करे।

5. मेडिटेशन करने के शुरू के दिनों में आपको आपका दिमाग़ ध्यान नहीं लगाने देगा पर एक बार जब आपको अपने अंतर्मन से आवाज़ सुनाई देने लगेगी तब दूसरी सभी आवाजें अपने आप बंद हो जाएंगी।

 

जिन लोगों के लिए ध्यान लगाना चुनौती से कम नहीं और यही सोचते है की क्यों और कैसे करे मेडिटेशन। अगर आप भी यही सोचते है तो आप ऊपर बताया हुआ ध्यान करने का तरीका पढ़े और अपनाये।

 

मेडिटेशन करने का तरीका: ध्यान लगाने के तरीके

ऊपर हमने पढ़ा मेडिटेशन करने के कई तरीके हो सकते है जिसमें से मेडिटेशन कैसे किया जाता है इसका एक तरीका ऊपर बताया भी गया है। आइए ध्यान लगाने के कुछ दूसरे तरीके भी जानते है।

1. मेडिटेशन कैसे करे, मेडिटेशन करने के लिए मेडिटेशन म्यूज़िक का सहारा भी ले सकते है। स्पीकर्स या फिर हेडफोन पर मेडिटेशन करने का म्यूज़िक चलाए और म्यूज़िक की आवाज़ पर ध्यान लगायें।

2. ध्यान लगाने का मंत्र का जाप करके मंत्र की ध्वनि पर ध्यान केंद्रित करे।

3. किसी कहानी की कल्पना करके मेडिटेशन कैसे करते है, इसके लिए अपनी आँखे बंद कर के एक कहानी की कल्पना करे। उदहारण के लिए आप इस दृशय की कल्पना करे की आप किसी ऐसी जगह पर है जहां चारों और पहाड़, पेड़, हरियाली है, सामने नदी बह रही है, पक्षी चहक रहे है और बारिश की हल्की हल्की बूंदे गिर रही है। आप ऐसी कल्पना करे की आप इस माहौल को महसूस कर रहे है।

4. मेडिटेशन करने के लिए आप किसी एक चीज पर भी ध्यान केंद्रित कर सकते है या दीवार पर एक बिंदू बना कर भी उसपर ध्यान लगा सकते है। इस तरीके से ध्यान लगाने के लिए ये जानना जरुरी नहीं की मेडिटेशन कैसे किया जाता है

5. कुछ लोगों के अनुसार आँखे बंद करके दोनों आँखों के बीच ध्यान केंद्रित करना चाहिए पर इससे जल्दी ही थकान महसूस होने लगती है।

 

मेडिटेशन करने के लिए टिप्स इन हिंदी

  • ध्यान लगाना कुछ लोगों के लिए बोरियत भरा होता है पर आप अगर मेडिटेशन को सही तरीके से करेंगे तो आपको इसमें आनंद आने लगेगा।
  • मेडिटेशन करने का कोई समय नहीं है, आप किसी भी समय ध्यान लगाने की प्रक्रिया कर सकते है।
  • ध्यान कैसे लगायें, सही तरीके से मेडिटेशन करने के लिए जरुरी है की शरीर बाहर और अंदर से निर्मल और स्वस्थ रहे। शरीर को बाहर से स्वस्थ रखने के लिए प्रतिदिन व्यायाम और योगा करे। शरीर को अंदर से निर्मल रखने के लिए जरुरी है की मन में अच्छे विचार आए इसके लिए आप अच्छी किताबें पढ़े और साथ ही ईश्वर को याद करे।

 

ध्यान के फायदे: Meditation benefits in hindi

1. मेडिटेशन से हम अपने मन और दिमाग को शांत कर सकते है जिससे हमारी लाइफ में आने वाली प्रॉब्लम का सामना करने के लिए हम खुद को त्यार करते है।

2. मानसिक तनाव और गुस्से से छुटकारा पाने का सबसे आसान उपाय है ध्यान लगाना।

3. हर रोज मेडिटेशन करने से मन की एकाग्रता बढ़ती है।

 

दोस्तों अब आप जान गये होंगे की मेडिटेशन कैसे करें। आपको हमारा ये लेख ध्यान कैसे लगायें, How to do meditation at home in hindi कैसा लगा हमें कमेंट कर के बताये और अगर आप हर रोज ध्यान लगाते है तो हमारे साथ अपना मेडिटेशन करने का तरीका साँझा करे।

25 Responses

  1. shivam says:

    Very nice muje bhut achha lga ham apna dhyan study par lagayege

  2. mahesh sangal says:

    Very nice acha article hai i like this article thanks you

  3. Avinash says:

    रात को सोये हुए क्या मैडिटेशन हो सकता है.

    • Admin says:

      सोने से पहले आप बिस्तर पर मैडिटेशन कर सकते है, ध्यान लगाने का तरीका ऊपर लेख में पढ़े.

  4. Yashwant suman says:

    main bhut koshish kra hu par ni ho pa rha.

  5. Manvendra says:

    Padhai karne se pehle man ekagra kaise kare.

    • Admin says:

      मन एकाग्र करने के उपाय और तरीके की जानकारी ऊपर लेख में पढ़े.

  6. Ramkumar says:

    ye article sach me mast hai.

  7. Aftab says:

    Muje gussa bahut aata hai har time gussa bahut rehta hai . Kuch kaam karne me man nahi lagta hai .har time cheda pan rekta hai mai kya karu.

  8. Rajesh tomar says:

    बहुत ही उत्तम लेख है मैं भी भावातीत ध्यान का साधक हूं ध्यान की सबसे अच्छी विधि भावातीत ध्यान है

  9. rishi says:

    Jayda sochne ke karan mai meditation kar nhi paata.

  10. Shameem Ahmad says:

    Mera high BP rehta hai koi upay hai kya.

  11. abhishek kumar mehta says:

    mujhe aapke tarike to acche lage but ye jo apne jhingur ki aawaj ke bare me btaya wo mujhe raat ke pdhte samay sunai pdta hai to main sochta hoon ki main raat ko hi meditation karu kya ye sahi hai.

  12. कुंज बिहारी झा says:

    वो म्यूजिक कौन सी है जिसके सहारे हम अपने ध्यान को केंद्रित कर सके.

  13. AjAy Mishra says:

    kya hum dhyan ek din me kahi bhi kabhi bhi jitni bar aur jitna time karna ho kar skate hai kya isse koi dikkat to nhi hai.

    • Admin says:

      ध्यान लगाना (मेडिटेशन करना) आप अपनी सुविधा के अनुसार कहीं भी कर सकते है पर अगर आप किसी शांत जगह पर और सही समय पर ध्यान लगाए तो आप को इसका ज्यादा फायदा मिल सकता है.

  14. B s pawar says:

    ध्यान लगाते समय मन बार बार क्यों भटकता है।

  15. Ajay Rathee says:

    Sir meri sangat buri thi jab main dhyan lagata hu mere dimag me bure bure vichar aate hai mene buri sangat ko bhi chod diya fir nahi ho pa raha hai.

  16. Ajay says:

    Meditation ke liye kaun sa music sun kar ya kaun sa mantra suna ja sakta hai bataye.

  17. Krrish says:

    Meditation karte samay saans muh se chode ya naak se.

  18. B C Tiwari says:

    I like the article how to do meditation.

  19. Shivam says:

    agar ek din me 4 ghante dhyan kare to aur kitna fayda hoga.

    • Atul Pandey says:

      jab tak aap time ko soch kar dhyan lagaoge tab tak dhyan nahi lagega dhyan ka matlab kuch nahi sochna hai us din aapka dhyan lag jayega.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!