डेंगू का इलाज के रामबाण घरेलु उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

डेंगू होने पर बुखार आता है, शरीर में प्लेटलेट्स कम हो होने लगते है और खून की कमी होने लगती है। दुनिया भर में हर साल डेंगू के कारण हज़ारो लाखों लोग अपनी जान गंवा देते है, ये बीमारी एडीज नामक मच्छर के काटने की वजह से होती है। इस प्रजाति के मच्छर जादातर दिन मे काटते है और ये मच्छर साफ़ पानी में फैलते है। ड्रम, टंकी और कूलर में पड़े पानी में ये मच्छर अंडे देते है। अक्सर लोग डेंगू होने पर घबरा जाते है, पर इस बीमारी में घबराने की नहीं धैर्य की जरुरत है। इस लेख में डेंगू का इलाज के घरेलु नुस्खे और उपाय के साथ साथ इसके लक्षण और बचाव के बारे में पढ़ेंगे और जानेंगे डेंगू बुखार में क्या करे, natural home remedies for dengue fever treatment in hindi.

एलोपैथी में डेंगू के इलाज की अभी तक कोई दवा नहीं है, जादा परेशानी हो तो आप पेरासिटामोल ले सकते है। डेंगू में बुखार कंट्रोल नहीं होता और रोगी के प्लेटलेट्स घटने लगते है। कई बार लगातार बुखार के रहने और प्लेटलेट्स के घटने से रोगी की मौत भी हो जाती है। इसी वजह से डेंगू को जान लेवा रोग कहा जाता है।

डेंगू का इलाज के घरेलु नुस्खे और उपाय, Dengue treatment in hindi

 

डेंगू बुखार होने के कारण : Dengu Causes 

ये तो हम जानते ही है की ये बीमारी मच्छर के काटने से होती है पर जब किसी व्यक्ति को डेंगू हो और उसे कोई मच्छर काट ले तो उस मच्छर में भी इस बीमारी का वायरस चला जाता है और ऐसे में अगर वही मच्छर किसी और व्यक्ति को काट ले तब वो भी इस वायरस से संक्रमित हो जाता है।

 

डेंगू के लक्षण : Dengu Symptoms

अगर शुरुआत में ही डेंगू के लक्षण पता चल जाए तो समय रहते इस बीमारी से बचा जा सकता है। डेंगू का रोग तेज बुखार होने से शुरू होता है और इसके साथ सिर दर्द, जोड़ों और मांसपेशियों में भी दर्द होता है। इसके इलावा शरीर पर लाल लाल चकते भी बन जाते है। पेट खराब हो जाना, पेट में दर्द, कमज़ोरी, चक्कर आना, दस्त, भूख ना लगना भी dengue ke lakshan है।

 

डेंगू का इलाज के घरेलु उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे

Dengu ka ilaj ke Gharelu Upay aur Ayurvedic Nuskhe

 

एलोवेरा, गेंहू का ज्वारा, गिलोय और पपीते के पत्ते। इन सबको मिला कर इन का रस पीने से डेंगू में चमत्कारी ढंग से फायदा मिलता है। ये उपाय चिकनगुनिया का इलाज में भी  काफी उपयोगी है। अगर ये सब चीज़े ना मिले तो गिलोय का पानी दिन में 3 बार पिये, इससे भी डेंगू के उपचार में फायदा मिलता है।

सुबह शाम घी या फिर या शहद में गिलोय का रस मिला कर पीने से खून की कमी दूर होती है।

 

बाबा रामदेव डेंगू बुखार का रामबाण इलाज

थोड़ी सी गिलोय पीस ले और उसमें 5 से 6 तुलसी की पत्तियां मिला कर 1 गिलास पानी में उबाल कर काढ़ा बना ले और मरीज को पिलाये। इसके इलावा 2 से 3 चम्मच एलोवेरा रस पानी में मिला कर रोजाना पिए तो बहुत से बीमारियों से बचे रह सकते है। इसमे पपीते के पत्तों का रस मिला कर पीने से प्लेट्लेट जल्दी से बढ़ते है। Baba Ramdev की बतायी गयी ये दवा डेंगू, चिकनगुनिया और स्वाइन फ़्लू के उपचार में उत्तम आयुर्वेदिक उपाय है।

 

होम्योपैथिक मेडिसिन से डेंगू का उपचार 

राजीव दिक्षित आयुर्वेद और होमियोपैथी विशेषज्ञ है, इन्होंने घरेलू और आयुर्वेदिक नुस्खे के बारे में लोगो को जागरूक किया और ये बताया कैसे हम एक स्वस्थ जीवन जी सकते है। होमियोपैथी से डेंगू के उपचार के लिए Rajiv Dixit ने कुछ होम्योपैथिक दवाओं के बारे में बताया है।

  • Arsenicum – 200
  • Aconite – 200
  • Belladonna – 200
  • Bryonia – 200
  • Dulcamara – 200
  • Rhus tox – 200

ये medicines मरीज के शरीर में खून की कमी पूरी करती है। इन दवाओं को शुरू करने से पहले किसी होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह ले और ये इनके प्रयोग का तरीका जाने।

 

डेंगू से बचने के उपाय और तरीके : Dengu se Kaise Bache

डेंगू के बुखार से बचने की सही जानकारी ही इससे बचने का सबसे बड़ा उपाय है। डेंगू से बचने के लिए ज़रूरी है की डेंगू फ़ैलाने वाले मच्छरों के काटने से बचा जाये, जिसके लिए इन मच्छरों के फैलने पर नियंत्रण रखना जरुरी है।

  1. घर के अंदर और बाहर कहीं पानी इकट्ठा ना होने दे।
  2. मच्छरों से बचने के लिए कीटनाशक का इस्तेमाल करे।
  3. घर में मच्छर भागने की कॉइल या फिर मशीन लगा कर रखे। पूरे कपड़े पहने और रात को सोने के लिए मच्छरदानी का प्रयोग करे।
  4. अपने आसपास साफ़ सफाई का ध्यान रखे और जिस जगह पर पानी रखते है उसे ढक कर रखे।
  5. तुलसी के पौधे की खुशबु से डेंगू के मच्छर भाग जाते है, इसलिए अपने घर में तुलसी का पौधा ज़रूर लगाए।

 

दोस्तों डेंगू का इलाज के घरेलु उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे का ये लेख आपको कैसा लगा कमेंट करके बताये और अगर आपके पास dengue ka ilaj ke gharelu upay aur ayurvedic nuskhe है तो हमारे साथ भी शेयर करे।

You may also like...

8 Responses

  1. Asif equbal says:

    Very nice,

  2. Jabbar says:

    Hi ye giloy Kay hoti hai game bataye

    • Admin says:

      दोस्त गिलोय की बेल होती है जिसके पत्ते पान के पत्ते की तरह दिखते है।

  3. rohit kumar says:

    bukhar ki dava

  4. निहाल चंद says:

    एसिडिटी का अचूक ईलाज बताए।

  5. Jaivardhan Singh says:

    Sir, mujhe kal dengue hua he to me kya karu doctor ke pass jau ya…………meri age 14 saal he.

  6. Anjani says:

    Cellulitis ka treatment bataya .pls

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!