गैस और एसिडिटी में क्या खाएं क्या नहीं खाना चाहिए और दवा

गैस एसिडिटी में क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए और दवा इन हिंदी: पेट में तेजाब, गले व सीने में जलन और गैस बनना एसिडिटी होने के लक्षण में से एक है। हमारे पेट में जो एसिड बनता है वो भोजन को पचाने में मदद करता है पर जब ये एसिड ज्यादा बनने लगता है तो हाइपर एसिडिटी होने लगती है। इससे पहले हम ने एसिडिटी का घरेलू और आयुर्वेदिक उपचार के बारे में जाना है जो इस समस्या के समाधान का आसान तरीका है। गैस एसिडिटी से बचने और इसके इलाज के लिए कुछ लोग दवा (मेडिसिन) का सहारा लेते है पर इसके निवारण के लिए इस बात का ध्यान रखना बहुत जरुरी है की एसिडिटी होने पर क्या खाना चाहिए और क्या न खाए। आइये जाने gas acidity me kya khana chahiye aur kya na khaye in hindi.

एसिडिटी में क्या खाएं क्या ना खाए, Acidity me kya khana chahiye in hindi

 

एसिडिटी के लक्षण – Acidity Symptoms in Hindi

  • पेट सीने और गले में जलन होना
  • गैस पाचन और कब्ज की समस्या होना
  • भोजन करने के बाद खट्टी डकारें आना
  • कुछ भी खाने की इच्छा ना होना

 

एसिडिटी कैसे होती है – Acidity Ke Karan

  • चाय कॉफ़ी का सेवन अधिक करना।
  • रोजाना बाहर का खट्टा तला और मसालेदार खाना।
  • दर्द दूर करने वाली दवा का अधिक सेवन करना।
  • प्रेगनेंसी में भी कुछ महिलाओं को एसिडिटी की समस्या होती है।
  • धूम्रपान और शराब का सेवन ज्यादा करने से hyper acidity हो जाती है।

 

गैस एसिडिटी में क्या खाएं इन हिंदी

Gas Acidity Me Kya Khana Chahiye in Hindi

 

1. फलों में केला, तरबूज, सेब, अंजीर, पपीता और नाशपाती जैसे fruits खाये और सब्जियों में पालक, पत्ता गोभी, फूलगोभी, ब्रोकली, लौकी, बीन्स और कद्दू खाएं।

2. एसिडिटी के घरेलू उपचार में ठंडा दूध रामबाण काम करता है। ये एसिडिटी से तुरंत राहत पाने में काफी मदद करता है।

3. सुबह नाश्ते में ओट मील, ब्राउन ब्रेड खा सकते है।

4. अगर आप non vegetarian खा लेते है तो अंडे का सफेद हिस्सा खाये और चिकन व मटन को बेक्ड करके खा सकते है।

5. खाना बनाते समय अजवाइन, सौंफ, जीरा, मेथी और धनिया जैसे मसाले प्रयोग कर सकते है।

6. खाना खाने के बाद थोड़ा आंवला पाउडर खाये व अपनी diet में मसूर दाल शामिल करे ये आसानी से पच जाती है।

7. एसिडिटी से बचने के लिए अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां अधिक खाये इससे शरीर को जरुरी पोषक तत्व मिलते है।

8. शकरकंद, गाजर, ककड़ी और अरबी खाये और ध्यान रहे खाना पकाते समय हल्का मसाला और तेल प्रयोग करे।

9. गैस एसिडिटी से बचने के लिए खाने के बाद थोड़ा सौंफ खाये। सौंफ वाली चाय पिने से भी एसिडिटी से छुटकारा मिलता है।

10. प्याज, अदरक और लहसुन भी एसिडिटी कम करने में काफी उपयोगी है। इसका सेवन भोजन और सलाद में कर सकते है।

11. पेट में तेजाब की मात्रा को कंट्रोल करना है तो पानी ज्यादा पीना चाहिए।

12. भोजन करने के बाद थोड़ा गुड़ खाने से पाचन क्रिया में सुधार होता है।

13. सूखे मेवे जैसे बादाम, काजू और अखरोट खाये, ये एसिडिटी में फायदा करते है।

14. पेट और सीने में जलन की शिकायत हो तो 2 इलायची खा ले या इसे पानी में उबाल कर पानी पिए। इस home remedies से भी एसिडिटी से राहत मिलती है।

 

गैस एसिडिटी में क्या नहीं खाना चाहिए परहेज – Acidity Me Kya Na Khaye in Hindi

  • कुछ foods ऐसे है जिन्हें अगर एसिडिटी होने पर खाया जाये तो समस्या और बढ़ सकती है इसलिए ये पता होना जरुरी है की एसिडिटी होने पर क्या ना खाये।
  • एसिडिटी होने का कारण और निवारण में सबसे पहले है घर का खाना छोड़ कर बहार फ़ास्ट फूड खाना।
  • ज्यादा मिर्च मसालेदार, तला हुआ, शराब, कोल्ड ड्रिंक, चाय, कॉफ़ी, चॉकलेट, टमाटर सॉस के सेवन से परहेज करे।
  • भूख से ज्यादा खा लेना फिर सीधे बेड पर लेट जाना भी पेट में तेजाब ज्यादा बनने का एक कारण है।
  • परांठे, पूड़ी, नान, समोसा, कचोरी, पकोड़े, बर्गर, पिज़्ज़ा ना खाएं।
  • एसिडिटी में फलों में खट्टे फल नहीं खाने चाहिए जैसे नींबू, संतरा।
  • ऐसी चीजें खाने से भी परहेज करना चाहिए जिसमे फैट अधिक मात्रा में हो।

 

एसिडिटी की दवा पतंजलि – Acidity Ki Dawa in Hindi

  • अगर अभी गैस और एसिडिटी की सिर्फ शुरुआत है तो ये बिना अंग्रेजी दवा के घरेलू उपाय से भी ठीक हो सकती है।
  • पुरानी एसिडिटी है तो इस रोग से छुटकारा पाने में आयुर्वेदिक दवा काफी उपयोगी होती है।
  • बाबा रामदेव पतंजलि से गैस, एसिडिटी, कब्ज, पेट में जलन की हर तरह की medicine ले सकते है।
  • एसिडिटी होने पर दिव्य मोती पिष्टी, दिव्य मुक्ता सूक्ति भस्म और पतंजलि दिव्य अविपत्तिकर चूर्ण के सेवन से आराम मिलता है।

 

दोस्तों एसिडिटी में क्या खाना चाहिए क्या ना खाएं, Acidity me kya khana chahiye kya na khaye in hindi का ये लेख कैसा लगा हमें बताये और अगर आपके पास गैस एसिडिटी की दवा और इस रोग से कैसे बचें के उपाय है तो हमारे साथ साँझा करे।

You may also like...

1 Response

  1. Sumit Rana says:

    Mujhe bahnut jada pet me gas ban jati hai, pet bhari ho jata hai, bhukh bhi nahi lagti aur gas ke karan ghabhrahat ho jati hai to mujhe kuch accha ho jaye aesa tarika bataye.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!